दुनिया की सबसे बड़ी फसल बीमा योजना में किसानो को मिले 90 हजार करोड़

दुनिया की सबसे बड़ी फसल बीमा योजना में किसानो को मिले 90 हजार करोड़ :-   

                                                                                                                    दुनिया की सबसे बड़ी प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के 5 साल पुरे होने पर सभी राज्य के साथ मिलकर कृषि मंत्री श्री नरेंद्र तोमर ने कार्यक्रम में कहा की दुनिया की सबसे बड़ी इस कृषि बीमा योजना में किसानो को क्लेम के 90 हज़ार करोड़ रुपए मिल चुके है। उन्होंने कहा  की MSP बढ़ने ,10 हज़ार नए FPO बनाने तथा आत्मनिर्भर भारत अभियान में कृषि व सम्बन्ध क्षेत्रो के लिए डेढ़ लाख करोड़ रुपया से ज्यादा के पैकेज से किसानो की दशा -दिशा बदलने वाली है। 

श्री तोमर ने कहा की PMFBY सफल रही है,जिसमे केंद्र के साथ राज्यों का योगदान है रोजगार की द्रष्टि से देखे तो देश की आधी आबादी को कृषि क्षेत्र रोजगार प्रधान करता है,अर्थव्यवस्था  की द्रष्टि से देखे तो कोविड के संकट में भी कृषि ने अपनी प्रसंगिकता सिद्ध है ,कृषि क्षेत्र प्रतिकूल परिस्थितियो का मुकाबला करने में सक्षम रहता है,श्री तोमर ने कहा हे की किसानो को नुकसान से बचने के लिए फसल बीमा योजना की कल्पना की गयी व  PMFBY  के  नाम से ,प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व  में  13 जनवरी 2016 को मंजूरी  देकर अप्रैल 2016 से इसे लागु कर दिया गया था। 

श्री तोमर ने कहा की खरीफ – 2016 में योजना के शुभारंभ से खरीफ -2019 तक किसानो ने प्रीमियम के रूप में 16000 करोड़ रू. का भुगतान किया और फसलो को 86,000 करोड़ रू मिले है ,अर्थात किसानों को प्रीमियम के मुकाबले  5 गुना से ज्यादा राशि दावो के रूप में मिली है,कुल आंकड़ा देखे तो,योजना की शुरूवात से दिसंबर -2020 तक किसानो ने लगभग 19 हजार करोड़ रू. प्रीमियम भरी ,जिसके बदले उन्हें लगभग 90 हज़ार करोड़ रू. का भुगतान दावों के रूप में किया का जा सकता है,योजना में पांच साल में 29 करोड़ किसान आवदेन बीमित हुए। हर वर्ष औसतन 5. 5 करोड़ से अधिक किसान योजना से जुड़ रहे. कृषि राज्य मंत्री श्री परषोतम रुपाला ने कहा की किसानो को जोखिम मुक्त करना सरकार का उदेश्य है,PMFPY को स्वैच्छिक कर दिया गया है,इसकी मानीटरिंग के लिए बेहतर  व्यवस्था और पार्यप्त प्रचार – प्रसार होने चाहिए ,कृषि सचिव श्री संजय अग्रवाल ने भी सम्बोधित किया। PMFBY के CEO डा. आशीष कुमार भूटानी ने प्रारभिक उद्वोधन एवं कृषि उत्पादन आयुक्त। बीमा कम्पनीयो के MD व अन्य अधिकारी ,एजंसियो के प्रतिनिधियों तथा केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के अधिकारी शामिल हुए। 

Leave a Comment